saffron kashmir online store

Kesar Ke Fayde Hindi Mey (Benefits of Saffron in Hindi)

केसर के फायदे (Saffron Benefits in Hindi)

केसर दुनिया के महंगे मसालों में से एक है। इसका उपयोग अधिकतर दूध या फिर दूध से बनी चीजों में होता है। अपनी आकर्षक खुशबू और रंग की वजह से यह लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है। केसर को जायके और औषधीय गुणों दोनों ही रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इस पोस्ट में हम जानेंगे kesar kya hai, kesar ke fayde aur nuksan kya hain, kesar ka upyog kya hai, kesar ka price इत्यादि।

Saffron

केसर क्या है (What is saffron in Hindi) –

केसर एक ऐसा मसाला है जिसको क्रोकस सैटाइवस नामक फूल से निकाला जाता है। यह छोटे-छोटे धागों जैसा दिखाई देता है। क्रोकस सैटाइवस इसका वैज्ञानिक नाम है। इसका इस्तेमाल मसाले और कलर एजेंट के रूप में होता है। हमारे भारत में इसको अलग-अलग नामों से जाना जाता है, जैसे – हिंदी में इसको केसर कहते हैं। बंगाली में इसको जाफरान के नाम से जाना जाता है। तेलुगु में इसको कुमकुमा पुब्बा कहते हैं। तमिल में यह कुमकुमापु कहलाता है और अरबी में इसको ज़ाफ़रान कहा जाता है। mongra saffron

केसर में मौजूद पोषक तत्व (Nutrients Present in Saffron in Hindi) –

केसर एक ऐसा गुणकारी मसाला है जो हमारे स्वास्थ्य (Health), बालों (Hair) और त्वचा (Skin) सभी का ख्याल रखता है। इसमें विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो इसे सभी मसालों से अलग करते हैं। केसर में Protein, Vitamin-A, Vitamin-C, Magnese, Fiber, Iron, Potassium आदि पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए हर तरह से लाभकारी हैं।

केसर के फायदे और उपयोग (Benefits and Uses of Saffron in Hindi) –

आपने अक्सर यह देखा होगा कि जब भी कोई व्यक्ति बीमार पड़ता है, जैसे सर्दी-जुकाम या कमजोरी होती है तो उसे केसर का सेवन करने की सलाह दी जाती है। इसी प्रकार किसी भी महिला के गर्भवती होने पर उसे केसर वाला दूध (Milk) पीने को कहा जाता है। ऐसी सलाह इसलिए दी जाती है क्योंकि केसर हमारे स्वास्थ्य के लिए हर तरह से फायदेमंद है। आइए आगे केसर के फायदों (Kesar ke fayde in hindi) के बारे में और विस्तार से जानते हैं –

Saffron Uses in Hindi –

(1) आंतों की बीमारी में लाभदायक (Beneficial in Intestinal Disease) –

Intestinal Disease

केसर आंतों के रोग के लिए भी एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है। जब व्यक्ति का आंत healthy रहता है तो उसका पाचन तंत्र भी सही प्रकार से कार्य करता

है। इसलिए यदि आप भी आंतों के रोग से जूझ रहे हैं तो आपको 10-15 मिली केसर का काढ़ा बनाकर उसका सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से आपको आंतो से संबंधित समस्या में काफी राहत मिलेगी।

(2) पेट दर्द में फायदेमंद (Beneficial in Stomachache) –

यदि आपको पेट दर्द की समस्या होती है तो आपको केसर का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। क्योंकि केसर का उपयोग पेट के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। पेट दर्द होने की भी कई वजह होती हैं। यदि आप भी पेट दर्द की समस्या से परेशान हैं तो आप 500 मिग्रा दालचीनी चूर्ण में 65 मिग्रा केसर को mix कर लें। आप इसकी 65 मिग्रा की गोली बना लें और इस गोली को 1-1 की मात्रा में सुबह और शाम में खाएं। ऐसा करने से आपको पेट दर्द में राहत मिलेगी।

(3) मूत्र रोग में राहत (Relief in Urinary Disease) –

पेशाब से संबंधित समस्या में भी केसर बहुत ही लाभकारी होता है। यदि आपको पेशाब रुक-रुक कर आने की समस्या है तो भी केसर आपके लिए फायदेमंद ही होगा। इसके लिए आपको 10-15 मिली केसर के काढ़ा में थोड़ी सी मात्रा नमक की मिलाकर इसका पानी के साथ सेवन करने से आपको पेशाब संबंधित विकार में काफी राहत मिलती है। इसके अलावा पेशाब से संबंधित रोग को ठीक करने के लिए केसर को रात भर भिगोएं। सुबह इसका चूर्ण तैयार करें और इस चूर्ण को शहद (Honey) के साथ पानी में मिक्स करके पीने से आपके मूत्र विकार में राहत मिलेगी।

(4) जोड़ों के दर्द में लाभदायक (Beneficial in Joint Pain) – joint pain saffron kesar

केसर का फायदा जोड़ों के दर्द में भी देखने को मिलता है। जिस व्यक्ति को जोड़ों में अक्सर दर्द रहता है, उसे केसर के पत्तों को पीसकर जोड़ों में लगाना चाहिए। ऐसा करने से जोड़ों के दर्द (Joint pain) में काफी राहत मिलती है।

(5) लिवर विकार के लिए फायदेमंद (Beneficial for Liver Disorders) –

अक्सर देखा जाता है कि लोगों को लिवर से संबंधित कई प्रकार की परेशानियां रहती है। यदि आप भी इस तरह की परेशानी को झेल रहे हैं तो ऐसे में केसर का उपयोग आपके लिए काफी लाभदायक साबित हो सकता है। इसके लिए आप केसर के चूर्ण में 10 मिली करेले का रस मिलाएं और इसको पिएं। ऐसा करने से आपको liver संबंधित विकार में फायदा हो सकता है।

(6) रक्तस्नाव में राहत (Bleeding Relief) –

कई लोगों में रक्तस्नाव की समस्या यानी नाक, कान आदि जगह से खून बहने की problem रहती है। इसी प्रकार मुंह, गुदा, योनि आदि इंद्रियों से भी खून बहने की परेशानी होती है। ऐसी स्थिति में केसर का इस्तेमाल आपके लिए लाभदायक साबित हो सकता है। इसके लिए आपको बकरी के दूध में केसर मिलाकर पीने से रक्तस्नाव में आराम मिलेगा।

(7) मानसिक रोग के लिए फायदेमंद (Beneficial for Mental Illness) –

केसर मानसिक रोग के लिए भी काफी लाभकारी माना जाता है। जिस व्यक्ति को मानसिक रोग हो उसे ब्राह्मी के 15-30 मिली काढ़ा में केसर डालकर पीना चाहिए। ऐसा करने से मानसिक रोगों में फायदा पहुंचता है।

(8) सिर दर्द में लाभकारी (Beneficial in Headache) –

जिन लोगों को अक्सर सिर में दर्द रहता है केसर उनके लिए उपयोगी साबित हो सकता है। इसके लिए घी में केसर के चूर्ण और चीनी को डालकर पका लें। इस घी की 1-2 बूंद नाक में डालने पर अधकपाड़ी तथा अन्य प्रकार के सिर दर्द में relief मिलता है।

(9) हृदय रोग के लिए फायदेमंद (Beneficial for Heart Disease) –

हृदय रोग एक बहुत ही गंभीर बीमारी होती है। इस बीमारी से इंसान का जीवन जोखिम में पहुंचने का खतरा होता है। केसर को हृदय को स्वस्थ बनाने वाली अन्य औषधियों के साथ मिक्स करके देने से हृदय रोग (Heart disease) में फायदा मिलता है।

(10) सर्दी-जुकाम में राहत (Relief from a Cold) –

देखा जाए तो सर्दी-जुकाम एक आम सी बीमारी है, लेकिन जिन लोगों को अक्सर यह शिकायत होती है और वह आयुर्वेदिक तरीके से अपना इलाज (Treatment) करना चाहते हैं तो ऐसे लोगों को 65 मिग्रा केसर को पान में डालकर खाना चाहिए। ऐसा करने से सर्दी-जुकाम में लाभ मिलता है।

(11) डैंड्रफ की परेशानी करे दूर (Overcome Dandruff Problem) –

रूसी या डैंड्रफ एक साधारण सी समस्या है जो किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। कुछ लोग इससे छुटकारा पाने के लिए अलग तरह के उपाय करते हैं, लेकिन फिर भी कई बार ऐसा होता है कि रूसी की समस्या खत्म नहीं हो पाती। यदि आप भी dandruff की परेशानी को झेल रहे हैं तो केसर आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। रूसी को बालों से समाप्त करने के लिए आप मरिच और केसर को सामान मात्रा में मिक्स करके तेल में पका लें और फिर इस तेल से अपने सिर की मालिश करें। ऐसा करने से dandruff problem खत्म हो सकती है।

(12) हैजा में केसर का लाभ (Benefits of Saffron in Cholera) –

केसर एक ऐसा गुणकारी खाद्य पदार्थ है जो हैजा जैसी गंभीर बीमारी में भी लाभकारी साबित होता है। इसके लिए आप 5 मिली नींबू रस में थोड़ी-सी केसर को मिक्स करके चांटें। ऐसा करने से आपको हैजा में राहत मिलेगी।

(13) महावारी विकार में फायदेमंद (Beneficial in Menstrual Disorder) –

अक्सर महिलाओं को मासिक धर्म से संबंधित विकार होने की समस्या होती रहती है। ऐसे में केसर का उपयोग मासिक धर्म संबंधी परेशानियों से राहत दिलाता है। इसके लिए आप केसर और अकरकरा को पीस लें और फिर इसकी 125 मिग्रा की गोली तैयार कर लें। इस गोली के सेवन से मासिक धर्म विकारों में काफी फायदा मिलता है।

(14) घाव भरने में मददगार (Helpful in Healing Wounds) –

केसर घाव को भरने में भी अपनी एक अहम भूमिका निभाता है। कभी-कभी कुछ घाव ऐसे होते हैं जो जल्दी ठीक नहीं होते। ऐसे में केसर के पत्तों को पीसकर उस घाव पर लगाना चाहिए। ऐसा करने से घाव जल्दी ठीक हो जाता है।

(15) शरीर में ठंड लगने पर केसर के लाभ (Benefits of Saffron on Body Cold) –

यदि आपको शरीर में ठंड लगती है तो भी केसर आपके लिए काफी लाभकारी है। इसके लिए आप केसर, कस्तूरी, अगरू, इलायची और देवदारू को पीस लें और शरीर पर इसका लेप लगाएं। ऐसा करने से ठंड कम हो जाती है।

केसर वाले दूध के फायदे (Saffron Milk Benefits in Hindi) –

दूध में केसर मिलाकर पीने के बहुत सारे फायदे होते हैं। यह blood pressure को control करने से लेकर त्वचा की रंगत सुधारने तक में कारगर है। इसके अलावा केसर वाले दूध के निम्नलिखित लाभ हैं – saffron milk recipe

Kesar Wala Doodh ke Fayde –

(1) केसर वाला दूध पीने से नींद बहुत अच्छी आती है। कुछ लोगों को नींद न आने की समस्या होती है, जिसका कारण कभी-कभी depression और stress होता है। ऐसे में दूध में केसर डालकर पीने से depression और stress का स्तर कंट्रोल हो जाता है और नींद अच्छी आती है।

(2) केसर दिमाग की कार्यक्षमता को भी मजबूत बनाने में कारगर होता है। हम जो भी सही या अधूरा काम करते हैं तो उसके पीछे हमारे मस्तिष्क (Brain) का ही सहारा होता है। इसलिए यदि हम चाहते हैं कि हमारा मस्तिष्क अच्छी प्रकार कार्य करे तो इसका स्वस्थ (Healthy) रहना बहुत आवश्यक है। Experts का यह मानना है कि केसर में ऐसे खास गुण मौजूद होते हैं जो ब्रेन हेल्थ को maintain रखते हैं तथा याददाश्त को बढ़ाते हैं।

(3) केसर वाला दूध हृदय रोगों से बचाने में भी अपनी खास भूमिका निभाता है। दिल की ऐसी कई बीमारियां होती हैं, जिनके कारण जान जाने का भी खतरा रहता है। इसलिए जरूरी है कि आप अपने दिल को स्वस्थ रखें। दूध और केसर का सेवन एक साथ करने से इसमें मौजूद क्रोसेटिन नामक तत्व शरीर से cholestrolके स्तर को control में रखता है और आप दिल की बीमारी से बचे रहते हैं।

गर्भावस्था में केसर के फायदे (Benefits of Saffron in Pregnancy in Hindi) –

यदि आप गर्भावस्था में केसर की सही मात्रा और सही समय का ध्यान रखते हैं तो आपको केसर का उपयोग करने से गर्भावस्था में कई चमत्कारी फायदे देखने को मिल सकते हैं। आइए नीचे हम जानते हैं गर्भावस्था में केसर के सेवन से क्या क्या फायदे हैं – buy high quality saffron for pregnancy kesar india

Kesar ke Fayde in Pregnancy in Hindi –

(1) गर्भावस्था में महिला में कई प्रकार के हार्मोनल बदलाव होते हैं जिससे महिला को चिड़चिड़ापन, गुस्सा, बिना बात के रोना महसूस होना आदि समस्याएं होती हैं। ऐसे में केसर के सेवन से depression दूर हो जाता है और महिला को अच्छा महसूस होता है।

(2) केसर का सेवन करने से गर्भवती महिला का रक्तचाप नियंत्रित रहता है।

(3) गर्भावस्था में शिशु के विकास के साथ ही मांसपेशियों में खिंचाव होता है, जिसके कारण पेट में दर्द और ऐंठन होती है। केसर में एंटी-स्पासमोडिक गुण मौजूद होते हैं, जो कि मांसपेशियों के लिए काफी लाभदायक होते हैं। ये दर्द और ऐंठन से राहत दिलाने में मदद करते हैं।

(4) केसर का सेवन करने से गर्भवती महिला में आयरन की मात्रा बढ़ती है और बालों को झड़ने से रोकने में भी केसर अपनी अहम भूमिका निभाता है।

(5) गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को उल्टी आना, जी-मिचलाना, सुस्ती महसूस होने जैसी समस्याएं होती हैं। केसर का उपयोग इन परेशानियों में भी राहत दिलाने में मददगार साबित होता है।

GET SAFFRON PREGNANCY KIT 25% OFF

केसर के नुकसान (Loss of Saffron in Hindi) –

केसर एक बहुत ही फायदेमंद खाद्य पदार्थ है। इसके नुकसान बहुत कम ही देखने को मिलते हैं। लेकिन कई बार केसर के अत्यधिक सेवन से निम्नलिखित परेशानियां हो सकती हैं –

(1) केसर में भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है तथा calcium की बहुत ज्यादा मात्रा लेने पर पेट में सूजन, गैस और कब्ज जैसी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

(2) केसर में पोटेशियम की मात्रा भी बहुत ज्यादा होती है। इसलिए इसकी अत्यधिक मात्रा हाइपरकलेमिया (शरीर में potassium ज्यादा होना) का मुख्य कारण बन सकता है। इसकी वजह से सांस की परेशानी, सीने में दर्द, उल्टी होना, जी-मिचलाना आदि समस्याएं हो सकती हैं।

भारत में केसर की कीमत (Saffron Price in India in Hindi) –

भारत में कश्मीर राज्य एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां केसर का उत्पादन होता है। हर साल कश्मीर में लगभग 17 टन केसर का उत्पादन किया जाता है। कश्मीर में 1 किलोग्राम केसर का मूल्य (1 kg kesar price) लगभग 1 लाख से 3 लाख तक रहता है। कश्मीर में केसर के दाम 2017 से 2018 तक तो ठीक-ठाक थे, लेकिन वहां पर बर्फबारी हो जाने की वजह से 2019 से 2020 तक में केसर का मूल्य (Kesar price) बहुत ज्यादा बढ़ गया।

इसके अतिरिक्त पूरे विश्व में लगभग 300 टन केसर का उत्पादन होता है। पूरी दुनिया (world) में केसर उत्पादन के मामले में ईरान country नंबर 1 पर है, जहां पर लगभग 90 फ़ीसदी तक केसर की पैदावार की जाती है।

CHECK HERE NOW

Main Menu