figs in hindi

अंजीर के फायदे, तथा नुक्सान – Know The Benefits of Figs in Hindi

अंजीर एक ऐसा फल है जो स्वादिष्ट होने के साथ ही बहुत फायदेमंद भी है। इस फल का सेवन दो तरह से किया जाता है – पहला ताजे फल के रूप में और दूसरा सूखने के बाद। यानी अंजीर का उपयोग फ्रूट और ड्राई फ्रूट दोनों ही रूप में होता है। यह फल दोनों ही तरह से बहुत गुणकारी है। ऐसी मान्यता है कि अंजीर हमारी पृथ्वी पर पाए जाने वाले सबसे प्राचीन फलों में से एक है। अंजीर जितना हमारी सेहत के लिए लाभकारी है, वहीं इसके थोड़े-बहुत नुकसान भी हैं। तो चलिए इसी के साथ हम आगे बढ़ते हैं और अंजीर के बारे में विस्तार से जानते हैं।

figs in india

अंजीर क्या है (What is Fig) – Anjeer in Hindi

अंजीर हल्के पीले रंग का एक फल होता है। यह पकने के बाद गहरा सुनहरा या कभी-कभी बैगनी रंग का भी हो सकता है। अंजीर का वैज्ञानिक नाम फिकस कैरीका है और अंग्रेजी में इसे fig कहा जाता है। वैज्ञानिक तौर पर यह माना जाता है कि अंजीर जीनस फीकस से संबंधित है तथा शहतूत के परिवार का ही एक सदस्य है। अंजीर का पेड़ ज्यादातर सूखे और धूप वाले क्षेत्र में अधिक तेजी के साथ उगता है। इसके अलावा पहाड़ी इलाके में भी अंजीर का पेड़ बहुत ही आसानी से निकल आता है। इस पेड़ की ऊंचाई 7 से 10 मीटर तक की होती है। अंजीर के हर एक पेड़ की उम्र लगभग 100 साल तक की होती है।

Figs anjeer

अंजीर के प्रकार (Types of Figs)

यदि अंजीर के प्रकार की बात करें तो स्वाद, आकार और रंग के आधार पर अंजीर पांच प्रकार की होती है

(1) ब्लैक मिशन

इस प्रकार की अंजीर बाहर से काली या हल्की बैंगनी रंग की होती है, जबकि अंदर से इसका रंग गुलाबी होता है। यह स्वाद में मीठी और रस से भरपूर होती है। इसका अधिक इस्तेमाल केक या खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए होता है।

(2) कैलीमिरना

इस तरह की अंजीर बाहर से हरी-पीले रंग की रहती है। इसका स्वाद सभी अंजीरों से अलग होता है तथा आकार के मुकाबले में भी यह सभी अंजीरों से बड़ी होती है।

(3) कडोटा

इस प्रकार की अंजीर का रंग हरा होता है और इसका गुदा बैंगनी रंग का होता है। खाने में यह सभी प्रकार की अंजीरों से कम मीठी होती है। इस तरह की अंजीर को हम कच्चा भी खा सकते हैं।

(4) ब्राउन तुर्की

यह अंजीर बाहर से बैंगनी रंग की होती है और इसका गुदा लाल रंग का होता है। इस प्रकार की अंजीर हल्के स्वाद की और कम मीठी होती है। यह ज्यादातर सलाद के स्वाद को बढ़ाने के लिए प्रयोग की जाती है।

(5) एड्रियाटिक

यह बाहर से हल्की हरी और अंदर से गुलाबी रंग की होती है। इस प्रकार के अंजीर का रंग सबसे हल्का होता है, इसलिए यह सफेद अंजीर के नाम से भी जानी जाती है। यह अंजीर सबसे मीठी होती है, जिसका सेवन फल के रूप में किया जा सकता है।

अंजीर की तासीर और सेवन का सही समय (Figs effect and exact time of intake)

अंजीर एक ऐसा फल है, जिसकी तासीर गर्म होती है। इसलिए इसका ज्यादा मात्रा में सेवन कभी-कभी हमारे शरीर में रक्तस्नाव का कारण भी बन जाता है। अंजीर के द्वारा रेटीना रक्तस्नाव, रेक्टल रक्तस्नाव तथा योनि में हल्का रक्तस्नाव होने का खतरा रहता है। इसके अलावा आपके शरीर में हेमोलिटिक  एनीमिया जैसी समस्या भी उत्पन्न हो सकती है। इसलिए अंजीर का सेवन एक सीमित मात्रा में ही करना चाहिए और उपरोक्त में से कोई भी परेशानी होने पर आपको अंजीर खाना बंद कर देना चाहिए।

वैसे तो अंजीर का प्रयोग किसी भी समय हल्के आहार के रूप में किया जा सकता है, लेकिन अंजीर के सेवन का सबसे अच्छा समय सुबह का ही होता है। अंजीर को सुबह के समय खाने से शरीर को अधिक फायदा मिलता है। इसके अलावा यदि आप रात के समय अंजीर का सेवन करते हैं तो यह ज्यादा लाभदायक नहीं होता।

अंजीर के फायदे (Benefits of Figs) – Anjeer ke fayde in hindi

अंजीर figs in hindi

यदि अंजीर के फायदे की बात करें तो सेहत के हिसाब से इसके अनगिनत फायदे हैं। इसके गुण और स्वाद के लिए अंजीर का उपयोग खाने के साथ ही सलाद और केक आदि में भी होता है। आइए इस आर्टिकल में हम अंजीर के कुछ खास फायदों के बारे में जानते हैं

(1) पाचन तंत्र को ठीक रखे (Keep the digestive system right)

जिस व्यक्ति को कब्ज की समस्या हो उसे अंजीर का सेवन करना चाहिए। इसमें भरपूर मात्रा में डाइटरी फाइबर होता है, जो कब्ज को दूर करता है तथा पाचन तंत्र को ठीक रखता है। यदि आप भी अपने पाचन तंत्र को बेहतर बनाना चाहते हैं तो 2 से 3 अंजीर को रात भर पानी में भिगोकर रख दें और फिर सुबह ऐसे ही या फिर शहद के साथ इसका सेवन करें।

(2) कैंसर के लिए लाभदायक (Beneficial for cancer)

अंजीर एक इतना महत्वपूर्ण फल है जो कैंसर जैसी घातक बीमारी से भी लड़ने में मददगार साबित होता है। यह एक ऐसा फल है जो पेट तथा ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को काफी हद तक कम करने में सहायक हो सकता है। अंजीर के फल में अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो कि पेट में इकट्ठा हुई गंदगी को मल के रास्ते से बाहर निकाल देता है। इसके अलावा अंजीर में छोटे-छोटे बीज होते हैं जिनमें काफी अधिक मात्रा में म्यूसन मौजूद होता है। म्यूसन के द्वारा पेट की सारी गंदगी एक जगह इकट्ठा हो जाती है और फिर म्यूसन द्वारा ही है सारी गंदगी पेट से बाहर निकाल दी जाती है।

(3) हृदय के लिए फायदेमंद (Beneficial for the heart)

अंजीर हृदय के लिए भी काफी लाभकारी है। जब शरीर में ट्राइग्लिसराइड (एक तरह का वसा) की मात्रा अधिक हो जाती है तो ह्रदय में अनेक प्रकार की बीमारियां होने लगती हैं, जिसके निवारण के लिए अंजीर खाया जा सकता है। अंजीर का सेवन रक्त से ट्राइग्लिसराइड की मात्रा को कम कर देता है तथा हृदय ठीक प्रकार से काम करना शुरू कर देता है।

(4) एनीमिया से राहत (Relief from anemia)

व्यक्ति के शरीर में आयरन की कमी होने पर एनीमिया रोग हो जाता है। यदि सही समय पर इस बीमारी का इलाज न कराया जाए तो यह बीमारी घातक भी साबित हो सकती है। आयरन की कमी को दूर करने के लिए सूखी अंजीर का प्रयोग करें। सूखी अंजीर में अधिक मात्रा में आयरन मौजूद होता है, जिसके सेवन से व्यक्ति के शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ जाता है।

(5) वजन कम करे (Lose weight)

यदि आप अधिक मोटापे के कारण परेशान हैं तो आपको अंजीर का सेवन जरूर करना चाहिए। अंजीर में फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है तथा कैलोरी बहुत कम मात्रा में होती है। अंजीर के सेवन से भूख कम लगती है और शरीर में जमा वसा भी कम हो जाता है।

(6) डायबिटीज में लाभदायक (Beneficial in Diabetes)

जिस प्रकार अंजीर का फल सेहत के लिए काफी लाभदायक है, उसी तरह अंजीर के पत्ते भी काफी फायदेमंद साबित होते हैं। अंजीर के पत्तों में ऐसे गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो रक्त में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने में सहायता कर सकते हैं। एक अध्ययन में यह पाया गया है कि यदि भोजन में अंजीर के पत्तों को शामिल करें तो यह डायबिटीज से लड़ने में मदद कर सकता है। इसके साथ ही आप डायबिटीज के मरीज को अंजीर के पत्तों की चाय बनाकर भी पिला सकते हैं।

(7) चेहरे की झुर्रियां करे दूर (Remove facial wrinkles)

समय से पहले ही चेहरे पर झुर्रियां पड़ने से चेहरे की सुंदरता कम होने लगती है। चेहरे की झुर्रियां दूर करने के लिए आप अंजीर का प्रयोग कर सकते हैं। एक शोध से यह पता चला है कि अंजीर के रस में एंटीऑक्सीडेंट तथा एंटी कोलेजनैस गुण मौजूद होते हैं, जो चेहरे की झुर्रियों को दूर करने में मदद करते हैं। अंजीर का प्रयोग चेहरे पर करने के लिए दो अंजीर को कुछ समय तक पानी में भिगोकर रखें। अंजीर अच्छी तरह भीग जाने पर इसे पीस लें और इसमें बादाम तेल की कुछ बूंदें डालकर इसका पेस्ट बना लें। अब आप चेहरे को पानी से धोकर पेस्ट को लगा लें। पेस्ट सूखने के बाद चेहरे को पानी से अच्छी तरह धो लें।

(8) हड्डियां करे मजबूत (Bones Strengthen)

अंजीर में काफी अधिक मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है, जो कि हड्डियों को मजबूत बनाता है। अंजीर का सेवन करने से हड्डियों की कमजोरी दूर होती है तथा हड्डियों का समूचित विकास हो जाता है।

अंजीर के नुकसान (Fig Damage) – Anjeer ke nuksan in hindi

अंजीर स्वास्थ्य और बीमारियों के लिए जितना अधिक फायदेमंद माना जाता है, वहीं अंजीर का अत्यधिक उपयोग कभी-कभी सेहत के लिए नुकसानदायक (anjeer ke side effects in hindi) भी हो सकता है। तो आइए जानते हैं अंजीर का उचित मात्रा में सेवन ना करने से क्या क्या नुकसान हो सकते हैं

(1) अंजीर का अधिक सेवन करने से व्यक्ति को डायरिया हो सकता है।

(2) एक ही सप्ताह में अंजीर के अधिक मात्रा में सेवन करने से व्यक्ति के पाचन प्रणाली में ब्लीडिंग होने का खतरा भी हो सकता है।

(3) सूखे हुए अंजीर में भरपूर मात्रा में शुगर पाया जाता है, जिसको खाने से व्यक्ति के दांत सड़ सकते हैं।

(4) अंजीर खाने से आपको एलर्जी भी हो सकती है, इसलिए पहली बार में अंजीर को कम मात्रा में ही खाना चाहिए।

(5) अधिक मात्रा में अंजीर का सेवन करने से आपका पेट भी भारी हो सकता है, जिससे पेट में दर्द भी हो सकता है।

अंजीर का उपयोग (Use of Fig)

(1) अंजीर का उपयोग फ्रूट और ड्राई फ्रूट दोनों ही रूप में होता है।

(2) अंजीर को खाने से पहले अच्छी तरह पानी से धो लें। फिर आप इसे छिलके के साथ या फिर छिलका उतार कर भी खा सकते हैं।

(3) सूखी अंजीर की तासीर गर्म होती है, इसलिए इसको पूरी रात पानी में भिगोकर रखना चाहिए। फिर सुबह खाली पेट इसको खाना चाहिए।

(4)इसके अलावा आप उस पानी को भी पी सकते हैं, जिसमें अंजीर को भिगोया गया था।

(5) अंजीर का इस्तेमाल केक, पुडिंग और जैम आदि में किया जा सकता है।

(6) अंजीर को खाने में भी मिलाया जा सकता है। अंजीर को खाने में मिलाकर खाने से खाने का स्वाद अधिक बढ़ जाता है।

(7) ताजे अंजीर के फल को केक और आइसक्रीम के ऊपर सजाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है।

(8) अंजीर का इस्तेमाल सैंडविच और सलाद में भी होता है। अंजीर से सैंडविच तथा सलाद का स्वाद तो बढ़ता ही है, साथ ही व्यक्ति को जरूरी पोषक तत्व भी मिल जाते हैं।

(9) सूखी हुई अंजीर का इस्तेमाल सूप में भी किया जा सकता है। इसके अलावा मीट के स्वाद को बढ़ाने के लिए भी आप उसमें अंजीर को डालकर मीट बना सकते हैं।

(10) सूखी अंजीर में शुगर की मात्रा अधिक होती है, इसलिए जिस खाने में आपको चीनी की आवश्यकता होती है, वहां आप अंजीर का प्रयोग भी कर सकते हैं। इसको डालने से खाने का स्वाद तो बढ़ेगा ही साथ ही शरीर को जरूरी पोषक तत्व भी मिल जाएंगे।

Main Menu